Benefit of Guava

Benefit of Guava

अमरूद (GUAVA) जिसका प्राचीनतम संस्कृत नाम अमृत या अमृत फल है। बनारस में तो लगभग सभी लोग इसे अमृत के नाम से पुकारते हैं। अमरूद (guava) खाने में खट्टा, मीठा व फीका लगता है। अमरूद स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक व औषधीय गुणों से भरपूर होता है। तथा इसमें कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने की क्षमता होती है।

Amrud (guava ) Benefits

अमरूद (Amrud) भारत में पाया जाने वाला एक साधारण फल है। और भारत के अधिकांश घरों में या ग्रामीण इलाकों में इसके पेड़ मिल ही जाते हैं। कुछ पाश्चात्य विद्वानों का मिथ है कि अमरूद अमेरिका से पुर्तगीज लोगों के द्वारा लाया गया है लेकिन ये भी कहते हैं कि अमरूद भारतवर्ष के कई स्थानों पर जंगलों में होता है। लेकिन असल में यह जंगली आम, केला आदि की तरह प्राचीन समय से हमारे यहाँ पैदा होता आया है। और यह भारत का मूल फल है।

अमरूद को अलग अलग नामों से जाना जाता है जैसे – अमरूद को इंगलिश में गुआवा (guava), संस्कृत में मृदुफलम्, अमृतफलम् , बंगाली में इसे पेयारा (Peyara) और गुजराती लोग जाम फल, उड़िया में  बोजोजामो, मराठी में पेरू, पंजाबी में अमरूद, मलयालम में नट्टू पेराक, तेलुगु में जयमपांडु, तमिल में कोया पझम, आदि नामों से जानते हैं।

अमरूद के फायदे

अमरूद के बहुत फायदे (guava benefits in hindi) हैं, सबसे बड़ी बात यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अमरूद का औषधीय गुण पेट साफ़ रखता है व पाचन शक्ति को बढ़ाता है। पेट की गर्मी से मुँह के अंदर छाले होने से रोकता है। पौरुष शक्ति व शुक्राणु को बढ़ाता है, मस्तिष्क को शांत व एकाग्र रखता है। प्यास को शांत करता है। हृदय को बल देता है, कृमियों का नाश करता है, उल्टी, खांसी व कफ जैसे विकारों एवं किडनी के संक्रमण, बुखार, मानसिक रोगों तथा मिर्गी आदि में इनका सेवन लाभप्रद होता है।

1. कब्ज से छुटकारा

जिन लोगों को कब्ज़ की शिकायत रहती है उनको प्रातः अमरूद (guava) को नाश्ते में काली मिर्च व काला नमक, अदरक के साथ सेवन करने से बदहज़मी, खट्टी डकारें, गैस, कब्ज में आराम मिलता है। भूख बढ़ाने में अमरूद बहुत उपयोगी है। दोपहर के समय अमरूद खाने से आंत के दर्द तथा अतिसार में फायदा होता है। अमरूद के औषधीय गुणों का लाभ पाने के लिए मात्रा का ध्यान रखना अति आवश्यक है।

यदि कब्ज़ ज्यादा रहती है तो अमरूद का मुरब्बा एक अचूक उपाय है। क्योंकि अमरुद में लैक्सटिव का गुण पाया जाता है जोकि कब्ज को दूर करने में मदद करता है। 

2. मुँह की दुर्गंध दूर करने में फायदेमंद

यदि मुँह से दुर्गन्ध आ रही हो तो ऐसी स्तिथि में अमरूद का सेवन करना अत्यंत हितकारी होता है। अमरूद के औषधीय गुण मुँह के अन्दर की लार पर तुरंत असर दिखाते है और मुँह के अंदर से आने वाली दुर्गन्ध को बदल देते हैं।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

अमरुद में विटामिन सी पाया जाता है और विटामिन सी हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और विटामिन सी संतरे के मुकाबले अमरूद में चार गुना अधिक होता है। जिससे छोटे मोटे रोग जैसे खांसी-जुक़ाम, वॉयरल बुख़ार आदि से हमारा बचाव करता है।

4. वजन कम करता है।

अमरूद स्वादिष्ट होने के साथ-साथ अमरूद में कैलोरी (calories) कम और फाइबर (fiber) ज्यादा होता है और कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) तो ना के बराबर होता है, जिससे ये वजन को कम (lose weight) करने में सहायक होता है।

5.एंटी एजिंग गुणों से भरपूर

अमरूद हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करता है जिससे हमारे शरीर के डैमेज सेल की ठीक होने लगते है और हमारी त्वचा में निखार आता है। जिससे जल्दी झुर्रियां व झाइयां भी नहीं पड़तीं। इसकी पत्तियों को पीसकर पेस्ट बनाएं फिर आंखों के नीचे लगाएं जिससे आंखों की सूजन और काले घेरे भी ठीक हो जाते हैं।

Kya Khayen Kya na khayen – किस के साथ क्या न खाएंयहां click करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *